Monday, November 28, 2016

देखिये कैसे छपते हैं प्रिटिंग प्रेस से नोट

Tags


भारत देश में नोट प्रिंट करने के लिए कुल 4 प्रेस हैं। दो देवास और नासिक में हैं जो भारतीय सरकार के कंट्रोल में हैं जबकि कोलकाता और मैसूर के पास मिदनापुर वाली प्रिटिंग प्रेस पर भारतीय RBI नोट मुद्रण लिमिटेड का नियंत्रण है। भारतीय नोटों को छापने के लिए कॉटन का प्रयोग किया जाता है जिसका निर्माण महाराष्ट्र के करंसी नोट प्रेस और एमपी के होशंगाबाद पेपर मिल में किया जाता है। कुछ पेपर को विदेशों से भी इम्पोर्ट किया जाता है। नोट को बनाने के लिए स्पेशल इंक का प्रयोग किया जाता है, जिस इंक को ऑफसेट इंक कहते हैं।
http://www.happy-new-year-2017-images.com/

नोट कि छपाई करने के लिए पेपर शीट को सायमंटन नाम कि स्पेशल मशीन में डाला जाता है, और इंक के लिए दूसरी मशीन का प्रयोग किया जाता है। शीट पर नोट छपने के बाद खराब नोटों की छंटनी होती है। एक शीट में करीब 32 से 48 नोट छपाए जाते हैं जिसमें अलग अलग  कोड से नंबर डाले जाते हैं इसके बाद नोटों के बंडलों को पैक करके रिजर्व बैंक तक पहुंचाया जाता है।


देश में RBI के 18 इश्यू ऑफिस हैं प्रिंटिंग प्रेस में नोटों कि छपाई करने के बाद नोटों को स्पेशल सुरक्षा के साथ इन इश्यू ऑफिसों तक पहुंचाया जाता है उसके बाद इन्हें कमिर्शियल बैंकों तक पहुंचाया जाता है। देश के अधिकतर क्षेत्रों में एटीएम तक पैसे पहुंचाने का काम NCR कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया नाम कि कंपनी करती है। वर्तमान में देश में कुल 2.2 lakh एटीएम और 8,800 कैश वैन हैं जो प्रत्येक ATM तक पैसा पहुंचाने की कोशिशों में लगी हुई है।


EmoticonEmoticon